सवाल जवाब और चर्चा मंच (फोरम)

पैरेंट के लिए फोरम कम्यूनिटी

हाल के प्रश्न

Noman Jahangir
Noman Jahangir1 जवाब

What is the best way to learn chess for kids ?

The Best way is to have a competent Chess trainer and coach.
Chess Classes For Kids Is Best way to learn chess for kids.

Akansha Chandra
Akansha Chandra1 जवाब

मुझे अपने 11 साल के बेटे पर बहुत गुस्सा आता है। अक्सर वह काम गलत करता है। मैं क्या करूं?

बच्चे को गुस्से से नहीं समझाया जा सकता है . आप उससे प्रेम से बात करें उसे समझाये उसे काम करने का सही तरिका बताये .

होता क्या है हम अपने बच्चे से बहुत ज्यादा अपेक्षाए रखते है , हम सोचते है वह सब अपने से समझ जाएगा पर ऐसा नहीं है . उसे कारण सहित सब सिखाना होगा उसके लिए अपने में भी बहुत धेर्य की आवश्कता है . 

Get all your Questions Answered

अपने सभी सवालों के जवाब पाएं

Do you have a question to ask or a discussion to start with fellow parents and experts.

समान रुचि वाले अन्य लोगों के साथ शामिल हों

बातचीत (चर्चा) शुरू करें

लोकप्रिय प्रश्न

Veda Acharya
Veda Acharya1 जवाब

बच्चे कब माता-पिता से बात छिपाने लगते हैं?

बच्चे कब माता-पिता से कुछ छिपाते हैं, वैसे इसकी कोई तय आयु नहीं होती। पर आम तौर पर बच्चे अपने माता-पिता के गुस्से से बचने के लिए कोई भी बात छिपाते हैं। जैसे कि अगर बच्चे को मालूम हो कि उसे कांच का गिलास टूटने पर मार पड़ेगी तो कभी भी कोई कांच का बर्तन टूटने पर बच्चा अपनी गलती को छिपाएगा, न कि माता-पिता को आकर सामने से बोलेगा। अगर आप चाहते हैं कि आपका बच्चा आपसे झूठ न बोले या अपनी बात न छिपाए तो आप उसे विश्वास दिलाएं कि सच बोलने पर आप उसे मारे या डांटेंगे नहीं, बल्कि उस पर भरोसा करेंगे।
Yash Jha
Yash Jha1 जवाब

अच्छे माता-पिता में क्या गुण होने चाहिए?

माता-पिता में कोई खास गुण होते हैं? मुझे नहीं लगता। एक अच्छा इंसान, अच्छा माता-पिता हो सकता है। आप जैसा चाहते हैं, वैसा अपने बच्चों के साथ बर्ताव करें। पेरेंटिंग की कोई क्लास या कोर्स नहीं होता। हां आप, अपने बड़ों या हम-उम्र लोगों से बात कर अपनी कुछ गलतियों को सुधार जरूर सकते हैं। एक बात और, मात-पिता बनते ही हममें माता-पिता के गुण भी खुद-ब-खुद आ जाते हैं।
Debbie Haldar
Debbie Haldar1 जवाब

किस उम्र तक छोटे बच्चों की मालिश करनी चाहिए?

आमतौर पर बच्चे के जन्म के एक सप्ताह बाद से लेकर 2 से 3 साल तक तो उसकी मालिश रोज की जाती है, लेकिन जैसे-जैसे बच्चे बड़े होते हैं, आप उनकी मालिश पहले कम और फिर बंद भी कर सकती हैं। वैसे अगर आपके बच्चे को पसंद आए तो आप सप्ताह में एक बार उसकी मालिश जरूर करें। इससे उनका खून का दौरा भी सही होता है और उनकी थकावट भी कम हो जाती है।