नारियल में हैं बहुत गुण – नारियल के फायदे और उपाय – Nariyal Ke Fayde in Hindi

By Dr. Tahira |5 - 6 mins| April 15, 2020

नारियल का सेवन व्यंजनों का जहां बहुत स्वादिष्ट बना देता है, वहीं इसका सेवन करना भी काफी फायदेमंद होता है। व्यंजनों में नारियल और नारियल के तेल दोनों का उपयोग भरपूर किया जाता है। इसका सेवन हृदय संबंधी समस्याओं और शुगर के स्तर को नियंत्रण में रखने में भी कारगर होता है। बाकी फलों की तरह नारियल (Coconut) भी पोषक तत्वों से भरपूर है। इसमें अच्छा वसा आपको मीडियम-चेन ट्राइग्लीसराइड्स (medium-chain triglycerides) के रूप में मिल जाता है। ये ट्राइग्लीसराइड्स (triglycerides) हमें दूसरे फलों को पचाने में मददगार होते है और जल्द ही हमारे खून में अवशोषित हो जाते हैं।

नारियल के विभिन्न व्यंजन तो हमारी रसोई में आमतौर पर बनते ही रहते हैं, लेकिन इसके गुण और घरेलू उपायों के बारे में हम सभी बहुत कम जानकारी रखते हैं। आइए जानते हैं हम नारियल के इन्हीं गुणों और उपायों के बारे में। (Nariyal Ke Fayde in Hindi)

नारियल के गुण और उपाय – Nariyal Ke Fayde

हड्डियों को बनाए मजबूत

नारियल में भरपूर मात्रा में मैग्नीज उपलब्ध होता है, जो हमारी हड्डियों के विकास के लिए बहुत जरूरी होता है। इसके अलावा नारियल में आयरन और कॉपर भी मौजूद है, जो खून में लाल कोशिकाओं को बनाने में मददगार होते है और एनीमिया की आशंका को कम करते हैं।

हृदय की सेहत बढ़ाए

नारियल के तेल से हमें हाई-डेंसिटी लिपोप्रोटीन या एचडीएल मिलता है, जिसे हम अच्छा कोलेस्ट्रॉल भी कहते हैं। ऐसे में अगर हम अपनी रसोई में खाना बनाने के लिए नारियल के तेल का इस्तेमाल करते हैं तो इससे हम अपने शरीर में कोलेस्ट्रॉल को कम करने और अपने मोटापे पर रोक लगाने में कामयाब हो सकते हैं। हमारे शरीर में अधिक कोलेस्ट्रॉल की मात्रा की वजह से हमें हाइपरटेंशन, हृदयघात और हार्ट स्ट्रोक की समस्याओं की आशंका भी अधिक हो जाती है।

ब्लड शुगर के स्तर में लगाए सुधार

नारियल के इस्तेमाल से हम दो तरीके से अपने शुगर के स्तर पर नियत्रंण पा सकते हैं। सबसे पहले नारियल के तेल में आर्जिनाइन अमिनो एसिड मौजूद होता है, जिसके सेवन से पैनक्रियाज अच्छी तरह से काम करना शुरू कर देते हैं और उसकी वजह से हमारा ब्लड शुगर का स्तर भी कम होने लगता है।

इसके अलावा दूसरा तरीका यह है कि नारियल के सेवन से हमारे शरीर में बीटा सेल्स अधिक कार्य करने लगते हैं, जिसकी वजह से इन्सुलिन भी अधिक बनता है और हमारी शुगर का स्तर कम होने लगता है। साथ ही हमारे शरीर में इन्सुलिन की संवेदनशीलता भी बढ़ती है।

हमारी कोशिकाओं और उत्तकों को बनाए सेहतमंद

नारियल में मिलने वाले एंटीऑक्सीडेंट यौगिक काफी प्रभावशाली होते हैं, जिनकी वजह से हमारे शरीर के मेटाबॉलिज्म में भी सुधार होता है और हमारी रक्त धमनियों में ब्लॉकेज को भी कम करता है। साथ ही हमारी धमनियां भी कड़क होने से बच जाती हैं और ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस से भी बचाव होता है।

कीमोथेरिपी के कुप्रभावों से बचाए

नारियल के तेल से हमें गैलिक एसिड (Gallic acid), फिनॉलिक एसिड (phenolic acid), सैलिसिलिक एसिड (salicylic acid) और कैफीक एसिड (caffeic acid) जैसे एंटीऑक्स्डिेंट्स मिलते हैं। ये सभी एंटीऑक्सीडेंट्स कैंसर के लिए की जाने वाली कीमोथेरिपी के कुप्रभावों से लड़ने में भी मददगार होते हैं। आमतौर पर कीमोथेरिपी के रोगियों में शरीर की सामान्य कोशिकाएं भी रेडिएशन से प्रभावित हो जाती हैं, लेकिन अगर हम रोजाना अपनी खुराक में नारियल का इस्तेमाल करेंगे तो हमारी कोशिकाओं में रेडिएशन के प्रभाव से लड़ने की ताकत बढ़ जाएगी और इसका नुकसान हमें कम से कम होगा।

रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाए

नारियल पानी (nariyal pani ke fayde )में कई मिनरल्स मौजूद होते हैं, जिनमें पोटैशियम और जिंक प्रमुख तौर पर मिलते हैं। ये दोनों हमारी रक्त वाहिकाओं की सेहत को बनाए रखते हैं और साथ ही हमारे इम्यून सिस्टम को भी मजबूत बनाते हैं, जो हमारे शरीर में विभिन्न जीवों से लड़ने में सहायता करता है।

पाचन तंत्र को रखे दुरुस्त

चूंकि नारियल में मीडियम चेन ट्राइग्लीसराइड्स मिलते हैं जो हमारी गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल ट्रैक्ट (gastrointestinal tract) में रहते हैं और भोजन को आसानी से आंतों तक पहुंचने नहीं देते। इसकी वजह से हमारे शरीर में कई संक्रमणों और अतिसार की आशंका में भी कमी आती है। इसके अलावा नारियल के तेज में लौरिक एसिड मिलता है, जो कई प्रकार के बैक्टीरिया विषाणुओं को मार सकता है। इसके लिए नारियल के तेल के गरारे कर सकते हैं, जिससे आपके मुंह और दांतों के कई बैक्टरीरिया और फंगस खत्म हो जाते हैं और दांतों के क्षय की आशंका भी कम होती है।

त्वचा और बालों को रखे चमकदार

नारियल के तेल का इस्तेमाल हम अपनी त्वचा और बालों को सेहतमेंद बनाए रखने के लिए भी करते हैं। इसमें मौजूद एंटीबैक्टीरियल गुण हमारी त्वचा को विभिन्न बैक्टीरियल संक्रमणों से बचाते हैं। वहीं इसका तेल हमारी त्वचा को रूखा होने से भी बचाता है और हमारी त्वचा को नमी देता है। आप इसके तेल की मालिश अपने शरीर के अंगों को बालों में जरूर करें।

नारियल के सेवन के विभिन्न प्रकार एवं उनमें मौजूद पोषक तत्व

  • सूखे नारियल (kachha nariyal) के सफेद भाग के लगभग 28 ग्राम में 187 कैलोरीज होती हैं, जिसमें 8 ग्राम वसा और 7 ग्राम फाइबर हैं।
  • लगभग  250 मिलीग्राम नारियल के दूध में लगभग 552 कैलोरीज होती हैं, जिसमें 57 ग्राम वसा और 13 ग्राम कार्बोहाइड्रेट्स मौजूद होते हैं।
  • लगभग 250 मिलीग्राम नारियल पानी में 46 कैलोरीज होती हैं, जिसमें 2 ग्राम प्रोटीन और 9 ग्राम कार्बोहाइड्रेट्स होते हैं।

SchoolMyKids provides Parenting Tips & Advice to parents, Information about Schools near you and School Reviews. Use SchoolMyKids Baby Names Finder to find perfect name for your baby.

About The Author:

Dr. Tahira

Last Updated: Wed Apr 15 2020

This disclaimer informs readers that the views, thoughts, and opinions expressed in the above blog/article text are the personal views of the author, and not necessarily reflect the views of SchoolMyKids. Any omission or errors are the author's and we do not assume any liability or responsibility for them.
Loading